बिना मारपीट के हर बात मानेगा आपका बच्चा, बस करें सिर्फ ये एक काम

May 23, 2024

अक्सर आपने खेलों में टाइम आउट शब्द सुना होगा, लेकिन विदेश में बच्चों को सुधारने और डिसिप्लेन सिखाने के लिए Time Out Technique का इस्तेमाल किया जाता है। बच्चों के संदर्भ में बात करें तो इसका मतलब है कि कुछ समय के लिए उनकी सारी एक्टिविटीज को बंद कर दिया जाता है। जब बच्चे कोई गलत व्यवहार करते हैं या फिर किसी बात को लेकर ज़िद करते हैं तो विदेशों में उन्हें टाइम आउट दे दिया जाता है। कई बार जब बच्चे ऐसा बर्ताव करते हैं जो उन्हें नहीं करना चाहिए तो पैरेंट्स टाइम आउट देते हैं। विदेशों में तो ये तरीका काफी पॉपुलर है। हालांकि अब भारत में भी पैरेंट्स बच्चों को टाइम आउट देने लगे हैं। जानिए टाउम आउट को क्यों माना जाता है बेहतर तरीका?

Related Stories

क्या है टाइम आउट ?

छोटे बच्चे जिनकी उम्र 2 से 6 साल के बीच है उन्हें सुधारने या उनकी गलती के बारे में समझाने के लिए टाइम आउट दिया जाता है। ये एक बिहेवियर मोडिफिकेशन की एक्टिविटी है, जिसमें बच्चे को समझाने की कोशिश की जाती है। अगर आप बच्चे को पनिशमेंट देने के लिए टाइम आउट का इस्तेमाल करते हैं तो ये गलत है। 

क्या है टाइम आउट का सही तरीका?

  1. बच्चो को ये समझाएं कि अगर उन्होंने गलत व्यवहार किया या मम्मी पापा की बात नहीं मानी तो उन्हें टाइम आउट दिया जाएगा। यानि आपको एक-दो बार टाइम आउट देकर सिर्फ उसकी वॉर्निंग देनी है। बच्चे को बताएं कि अगर उसने अपने बर्ताव में सुधार नहीं किया तो टाइम आउट मिलेगा। 

  2. अगर आप बच्चे को टाइम आउट दे रहें है तो ऐसी जगह चुनें जहां बच्चा सुरक्षित रहे। इस जगह पर बच्चे को शांत होकर बैठने के लिए कहा जाता है। आप रूम में , बेड पर या सोफे पर बैठे रहने के लिए टाइम आउट दे सकते हैं। आपको तब तक उन्हें नॉर्मल कोई एक्टिविटी नहीं करने देनी है जब तक वो अपनी गलती न समझ जाएं।

  3. जिस जगह पर बच्चे को टाइम आउट दिया जा रहा है वहां ज्यादा टॉयज, सोशल एक्टिविटी, टीवी या कई ऐसी चीज नहीं होनी चाहिए जहां बच्चा इंगेज हो जाए। आपको ऐसी जगह चुननी है जहां बैठकर बच्चे को अपनी गलती का अहसास हो।

  4. टाइम आउट के दौरान बच्चे पर चिल्लाने- छल्लाने या फिर मार-पीट की जरूरत नहीं है। आप शांत स्वभाव के साथ बच्चे को टाइम आउट दें। इस दौरान बच्चे के किसी तरह के नेगोसिएशन में ना आएं। हालांकि ये समझने की जरूरत है कि ये बच्चों को डराने के लिए नहीं है।

  5. जब भी बच्चे को टाइम आउट दें तो प्लेस का बहुत ध्यान रखें। बच्चे को ऐसी जगह पर ना रखें, जहां वो अकेला हो या फिर किसी तरह की चीज से खुद नुकसान पहुंचा ले। टाइम आउट का समय 5 मिनट से ज्यादा नहीं होना चाहिये। जब बच्चा गलती महसूस करे तो टाइम आउट रोक दें।

 


Topstory-Entertainment

अनुपम खेर के ऑफिस में हुई चोरी, एक्टर ने वीडियो दिखाकर बताया क्या-क्या उड़ा ले गए चोर

ुड एक्टर अनुपम खेर ने कुछ वक्त पहले ही एक वीडियो बनाकर जानकारी दी कि उनके ऑफिस में चोरी हो गई है। उन

Topstory-Entertainment

रेणुकास्वामी हत्याकांड में दर्शन को एक और झटका, कोर्ट ने दो दिन के लिए बढ़ाई पुलिस हिरासत

ास्वामी हत्या मामले में पुलिस ने अदालत से दर्शन और पवित्रा सहित कुछ आरोपियों को हिरासत में भेजने का

Topstory-Entertainment

प्रेग्नेंसी में भी योगा करती थीं ये एक्ट्रेसेज, बेबी बंप के साथ दिखा चुकी हैं अलग-अलग आसन

डे के खास मौके पर आपको बताते हैं कि बॉलीवुड में कई एक्ट्रेसेज ऐसी हैं जो प्रेग्नेंसी के दौरान भी जमक

Topstory-Entertainment

आलिया भट्ट प्रेग्नेंसी की खबर लगते ही हो गई थीं हैरान, सेट पर ही रोने लगी थीं एक्ट्रेस और...

ने 6 नवंबर साल 2022 को अपनी बेटी राहा को जन्म दिया, जिसके बारे में एक्ट्रेस ने बातक की। साथ ही आलिया

Topstory-Entertainment

शादी की तैयारियों के बीच सोनाक्षी के ससुराल पहुंचे शत्रुघ्न सिन्हा, दामाद जहीर से कुछ इस अंदाज में मिले शॉटगन

हाल ही में शत्रुघ्न सिन्हा पत्नी पूनम सिन्हा के साथ होने वाले समधी साहब इकबाल रतनसी के घर पहुंचे, जि

Topstory-Entertainment

कौन है वो शख्स जिनके अमिताभ बच्चन ने भरी महफिल में छुए पैर, Kalki 2898 AD के इवेंट में बांधे तारीफों के पुल

2898 एडी के प्री-रिलीज इवेंट में बिग बी ने खुद एक शख्स के पैर छू लिए। इवेंट से बिग बी का ये वीडियो स