इन इनडोर प्लांट्स को घर पर लगाने से मिलेगी शुद्ध हवा, रहेंगे बीमारियों से कोसों दूर और हमेशा तरोताजा

Mar 29, 2023

ज्यादातर लोगों को अपने घर को सजाने का शौक होता है। ऐसे में आजकल अपने घरों को पौधों से सजाने का लोगों में बेहद क्रेज़ देखा जा रहा है। पौधे लगाना प्रकृति के लिए हमेशा से अच्छा माना जाता रहा है। बहुत से पौधे ऐसे होते हैं जिन्हें घर में लगाने से कई तरह का लाभ होता है। ये ना सिर्फ घर की खूबसूरती बढ़ाते हैं बल्कि हवा की गुणवत्ता को सुधारने में भी असरदार हैं। आज हम आपको कुछ ऐसे प्लांट्स के बारे में बताएंगे जो आपके घर की खूबसूरती को बढ़ाने के साथ साथ ताजगी का भी एहसास दिलाएंगे।

मनी प्लांट

मनी प्लांट अधिकतर घरों में मिल जाता है। यह हवा को शुद्ध करने में काफी मदद करता है। यह आसानी से कही भी बढ़ जाते है। यह घर से कार्बन मोनो आक्साइड और कार्बन डिऑक्साइड जैसी जहरीली हवाओं को निकालने में मदद करता है। जिससे साथ ही आपके घर में यह ऑक्सीजन की मात्रा को बढ़ा देगा।

ऐरेका पाम

इस पौधे को लिविंग रूम प्लांट भी कहा जाता है। यह पौधा हवा से फार्मेल्डिहाइड, कार्बन डाइऑक्साइड और कार्बन मोनोऑक्साइड जैसी जहरीली गैसों को दूर करता है और शुद्ध ऑक्सीजन देता है। अगर आप अपने पूरे घर में ऑक्सीजन की कमी नहीं होना देना चाहते है तो कम से कम के 4 पौधे लिविंग रूम में लगाएं। इसके साथ ही इसकी पत्तियां रोजाना साफ करें। इसके साथ ही तीन से चार महीने में एक बार धूप में रखना पड़ता है।

पीस लिली प्लांट

पीस लिली प्लांट को स्पेथिफिलम भी कहा जाता है। यह पौधा हवा में मौजूद हानिकारक कणों और बीमारी पैदा करने वाले कणों को दूर भगाकर हवा को शुद्ध करने में मदद करता है। वहीं ये रात को ऑक्सीजन उत्सर्जित करता है।

स्नेक प्लांट

स्नेक प्लांट एक इंडोर प्लांट है जिसे संसेविया ट्रिफसिआटा भी कहा जाता है। इस पौधे की दुनिया भर में लगभग 70 प्रजातियां हैं और सभी सदाबहार हैं। यह मुख्य रूप से एशिया और अफ्रीका में पाया जाता है। इसके मोटे, नुकीले, तलवार के आकार के 18 इंच तक के पत्ते हो सकते हैं। इसके फूल क्रीम कलर के बहुत ज्यादा खुशबू देने वाले होते हैं। यह देखने में बहुत ही आकर्षक होता है। इसे बढ़ने के लिए बहुत कम पानी की जरूरत होती है।

सिंगोनियम पौधे

यह जितना दिखने में खूबसूरत लगते है उतना ही यह आपके घर को शुद्ध ऑक्सीजन भी देते हैं। ये पौधे इनडोर वायु प्रदूषण के घटकों को कम कर सकते हैं।

(ये आर्टिकल सामान्य जानकारी के लिए है, किसी भी उपाय को अपनाने से पहले डॉक्टर से परामर्श अवश्य लें)